साफ्टवेयर आर्किटेक्ट कैसे बनें ?

615

जब कोई व्यक्ति सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट क्षेत्र में करियर बनाने का फैसला करता है तो उसके दिमाग में हमेशा एक बात आती है करियर कैसे आगे बढ़ेगा और भविष्य में क्या होगा कई सारे सर्वे के आधार पर कहा जा सकता है कि सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट का भविष्य उज्जवल लगता है तो आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि एक साफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए क्या करना चाहिए किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और कौन-कौन से स्किल डिवेलप करनी चाहिए अंत में हम आपको कुछ खास टिप्स भी देंगे इस फील्ड में बेस्ट करने के लिए तो इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ते रहिए

एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट कैसे बनें

साइंस के स्टूडेंट के लिए बहुत सारे करियर ऑप्शन मौजूद होते हैं लेकिन अगर आप एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनना चाहते हैं तो कई तरह के एजुकेशन क्वालीफिकेशन और साथ ही एक्सपीरियंस चाहिए जो इस लाइन में आगे बढ़ना चाहता है वह अमूमन मास्टर डिग्री करते हैं कंप्यूटर साइंस में, तो चलिए लाइन से समझते हैं
1.पढ़ाई पूरी करना – पहले तो आपको ट्वेल्थ पास करके किसी भी अच्छे कॉलेज में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में एडमिशन लेना होगा इसके लिए आप के लिए ट्वेल्थ में साइंस स्ट्रीम होनी चाहिए जिसमें एक सब्जेक्ट कंप्यूटर साइंस होना चाहिए इसके बाद अगर आप चाहे तो इग्नू से भी बीएससी कर सकते हैं और कई सारे ऐसे सक्सेसफुल डेवलपर हैं जिन्होंने कोई ग्रेजुएशन डिग्री नहीं की लेकिन आज एक सक्सेसफुल सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट हैं इसके लिए आपको खुद से सब कुछ सीखना होगा ट्यूशन और ऑनलाइन क्लास के जरिए सीखना होगा

साफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए कोर्स

आप बैचलर ऑफ कंप्यूटर साइंस ,इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी, बैचलर ऑफ सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में से कोई सा कोर्स कर सकते हैं इसके अलावा भी आप सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट से रिलेटेड कोई और कोर्स कर सकते हैं अगर आप ग्रेजुएशन को चुनते हैं तो इसके बाद आप मास्टर डिग्री भी कर लेते हैं तो यह आपके करियर को और भी एडवांस बना देगा वैसे तो बहुत सारे कॉलेज हैं जहां से आप इन सब कोर्स कर सकते हैं लेकिन कुछ के बारे में हम आपको बताने वाले हैं

बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (बिट्स पिलानी )
थापर इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी जामिया मिलिया इस्लामिया
ट्रिपल आईटी हैदराबाद
आईआईटी खरगपुर
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरु

2. एक्सपीरियंस लें- एक अच्छा साफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए आपको एक्सपीरियंस भी लेना होता है क्योंकि अगर आप अपने पढ़ाई के दौरान इंटर्नशिप के जरिए या किसी तरह की काम के जरिए एक्सपीरियंस लेते हैं तो आपका ग्रेजुएशन खत्म होते होते आपके पास अपने क्लास की बाकी बच्चों के मुकाबले ज्यादा अनुभव होगा जिससे कि कॉलेज प्लेसमेंट में हायर एजुकेशन में आप बाकी के मुकाबले आगे रहेंगे आपको कंप्यूटर प्रोग्राम और सॉफ्टवेयर डेवलपर के तौर पर काम करने का एक्सपीरियंस लेना होता है एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट को जरूरत है कि वह अलग अलग लैंग्वेज में सेंटेंस को समझ सके और लिख सके इसमें एक्सपर्ट होने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप ज्यादा से ज्यादा एक्सपीरियंस गेन करें

3 .डेवलपमेंट टीम में काम करना सीखें – आपको यह तो पता ही होगा कि सक्सेस की आखिरी सीढ़ी तक पहुंचने के लिए सबसे पहले पहले सीढ़ी पर पैर रखना होता है डेवलपमेंट टीम में काम करना उसी सक्सेस की सीढ़ी का तीसरा कदम होता है पहले और दूसरे की चर्चा हम कर ही चुके हैं तो डेवलपमेंट टीम ने काम कैसे करें जहां आप एक साफ्टवेयर आर्किटेक्ट की तरह आप न्यू जॉब पर जाते हैं तो वहां पर सॉफ्टवेयर डेवलपर्स की टीम में ही आपको किसी के अंदर में काम करना होता है ऐसे में आपको टीमवर्क आना चाहिए जितना आप अपने कलीग्स को कॉर्पोरेट करेंगे उतना ही आपकी आगे बढ़ने की चांसेस होंगे

4. सॉफ्टवेयर डिजाइन पेटर्न एंड आर्किटेक्चर के बारे में जितना हो सके सीखें क्योंकि अगर आप एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको डिजाइन और आर्किटेक्चर की पूरी जानकारी होनी चाहिए एक टीम में काम करने के लिए आपको इस तरह की इंफॉर्मेशन मिलेग
5. प्रोग्रामिंग कॉन्सेप्ट्स की पूरी समझ रखें – एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के रूप में अपना करियर शुरू करने के लिए आपको हमेशा प्रोग्रामिंग भाषा और रूप रेखाओं का सही ज्ञान होना चाहिएं एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के रूप में आपको पूरे दिन कोडिंग करनी होगी लेकिन आपको एक डेवलपर की टीम लीड करना है इसके लिए आपको कोडिंग में एक्सपर्ट होना पड़ेगा कोडिंग की जरूरत तब होती है जब आपको बाकी टीमों के साथ सहयोग करना है कोड की समीक्षा करनी है या किसी और जरूरी मौके पर कोड की गलतियों को ठीक करना है इसीलिए आपको प्रोग्रामिंग कांसेप्ट की पूरी समझ होनी चाहिए आपने कोर्स के दौरान आप विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे C++, Paython, go प्रोग्रामिंग भाषाओं के साथ प्रोग्राम सीखना शुरू कर सकते हैं इसके अलावा आप कई छोटे प्रोजक्ट बना सकते हैं जिसे आप अपना ब्लॉग बना सकते हैं और बाकी लोग उसे देख सके आप अपने प्रोग्रामिंग स्किल को बढ़ाने के लिए कई सारे कोडिंग चैलेंज में भाग ले सकते हैं
6. एक सॉफ्टवेयर डेवलपर के रूप में आईटी की दुनिया में एंटर करें – सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट एंट्री एडमिन नहीं है मतलब आप किसी कंपनी में जाते ही सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट नहीं बन सकते इससे पहले सॉफ्टवेयर डेवलपर के तौर पर काम करना होगा। इसीलिए आपको पहले किसी डेवलपर की प्रोफाइल पर एक्सपीरियंस करना होगा
इसी बीच आप कोडिंग के अलावा आपको एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए डेवलपर के रूप में कई और भी चीजों को समझना होगा जैसे टीमवर्क और क्लास में प्रोजेक्ट के एसटीएलसी और कि क्लाइंट के लिए और फॉर रेट एनालिसिस करना आदि

7.सारे कांसेप्ट क्लियर करें – एक बार जब आप सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के फील्ड में प्रवेश कर जाते हैं और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और फ्रेमवर्क में एक्सपर्ट हो जाते हैं तो आप आपको अपने बोल के लिए काम करना है मतलब अब आपको एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए अपनी इस केस को अपडेट करना है एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट कई कार्यों के लिए जिम्मेदार है इसीलिए आपको कई इंपोर्टेंट चीजें जैसे सिस्टम डिजाइन, डेवलपमेंट ऑपरेशन जैसे कई एडवांस चीजों से परिचित होना होगा आपको डिजाइन पेटर्न आर्किटेक्चर डाटा फाउंडलिंग फंडामेंटल यूनिफाइड मॉडलिंग लैंग्वेज और ऐसे कई सारे कांसेप्ट की होनी चाहिए

सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के रूप में अपना करियर कैसे शुरू करें

सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के रूप में अपना करियर शुरू करने के लिए-
1. सर्टिफिकेट कलेक्ट करें – चलिए जान लेते हैं एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के लिए कौन-कौन से सर्टिफिकेशन की जरूरत होती है यह सर्टिफिकेशन आपके स्किल और स्टडीज को मान्यता देते हैं इसके अलावा इन प्रमाणपत्रों को रखने से आपको आईटी दुनिया में करियर के विभिन ऑप्शन ऑफ अवसर प्राप्त करने में मदद मिल सकती है कई प्रतिष्ठित प्रमाणपत्र हैं जो आप अपने इंटरेस्ट के अनुसार कर सकते हैं इन प्रमाण पत्रों में से कुछ है आईएस ए क्यूबी सॉफ्टवेयर आर्किटेक्चर फंडामेंटल पिक्चर आईटीआई मास्टर सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट बनने के लिए क्या सीखना होगा एक बेस्ट सॉफ्टवेयर बनने के लिए आपको कुछ चीजें आनी चाहिए जो कि हर कंपनी एक एंप्लॉय में ढूंढती है जैसे आपको सॉफ्टवेयर जावा प्रोग्रामिंग प्रोग्रामिंग सी प्लस प्लस प्रोग्रामिंग एप्लीकेशन आर्किटेक्चर होनी चाहिए

सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के लिए क्या काम होता है

सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट एक कंप्यूटर प्रोग्रामर या सॉफ्टवेयर डेवलपर होता है जो निर्धारित करता है कि डेवलपमेंट में किस प्रोसेस किस टेक्नोलॉजी का उपयोग करना चाहिए एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के रूप में आप कोडिंग के प्रॉब्लम्स को भी सॉल्व कर सकते हैं और दूसरे एक्सपर्ट के साथ मिलकर हाई परफॉर्मेंस सॉफ्टवेयर सिस्टम का निर्माण कर सकते हैं आपकी भूमिका होती है कि आप ऐसे स्ट्रक्चर्ड सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस अपनी कंपनी के लिए ढूंढ के लाए जिससे कंपनी के गोल और टेक्निकल पूरे हो सकें चलिए इनके काम के बारे में जानते हैं
1. क्लाइंट के साथ मीटिंग करना उनके बिजनेस को समझना उनकी आवश्यकताओं की पहचान करना और उनकी जरूरत के अनुसार सॉफ्टवेयर तैयार करना एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्चर के बेसिक काम में से एक है
2. जिस एप्लीकेशन को बनाने की योजना है उसके लिए एक टीम बनाना जो डिजाइन करने और उस एप्लीकेशन को बनाने का काम करें
3. अपने क्लाइंट के लिए एप्लीकेशन प्लेटफॉर्म जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आपके काम से प्रभावित होकर जुड़े
4.अलग-अलग डेवलपर्स के साथ नए नए प्रोजेक्ट पर काम करें
5.प्रोजेक्ट या रिलीज के लिए डेड लाइन के अंदर काम कर दें ताकि क्लाइंट को आपके बारे में पता चल सके और किसी क्लाइंट का काम डेडलाइन की वजह से छूटे नहीं तो चलिए अब जानते हैं

सॉफ्टवेयर आर्किटेक्चर की सैलरी कितनी होती है

यह जाब रोमांचक और दिलचस्प है बल्कि यह आर्थिक रूप से भी फायदेमंद है एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट के लिए सैलरी लगभग 100000 से डेढ़ लाख प्रतिमाह होता है लेकिन यह सैलरी एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्चर की है जो बनने के लिए आपको कई साल सॉफ्टवेयर डेवलपर के तौर पर काम करना होता है और एक सॉफ्टवेयर डेवलपर की सैलरी आर्किटेक्ट से कम होती है एक सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट एक आईटी प्रोफेशनल होता है जिसके पास सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट एक्सपर्टीज होती हैं आपके अनुभव और इसकी और आप किस कंपनी में काम करते हैं उस पर निर्भर करता है

आज क्या सीखा
आज के इस आर्टिकल में हमने सीखा कि एक साफ्टवेयर आर्किटेक्ट कैसे बनें, साफ्टवेयर आर्किटेक्ट की सैलरी कितनी होती है, साफ्टवेयर आर्किटेक्ट के क्या काम होते हैं के बारे में सीखा उम्मीद करता हूं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा।